West Bengal Rss Member Santanu Sinha Accused Bjp It Cell Head For Women Sexual Exploitation Amit Malviya – Amar Ujala Hindi News Live



अमित मालवीय
– फोटो : एक्स/अमित मालवीय

विस्तार


पश्चिम बंगाल में संघ से जुड़े एक कार्यकर्ता के सोशल मीडिया पोस्ट से राज्य में नया सियासी भूचाल आ गया है। दरअसल संघ कार्यकर्ता शांतनु सिन्हा ने भाजपा आईटी सेल के प्रमुख पर महिलाओं के यौन शोषण में लिप्त होने का आरोप लगाया था। जिसके बाद अमित मालवीय पर ऊंगली उठी और कांग्रेस ने तो बाकायदा अमित मालवीय के इस्तीफे और उच्च स्तरीय जांच की मांग कर दी। मामला बढ़ने पर अमित मालवीय ने शांतनु सिन्हा पर 10 करोड़ रुपये का मानहानि का दावा कर दिया। अब शांतनु की सफाई आई है और उसने सोशल मीडिया पर साझा एक पोस्ट में लिखा कि उन्होंने अमित मालवीय पर महिलाओं के यौन शोषण का आरोप नहीं लगाया था। 

क्या है पूरा मामला

संघ कार्यकर्ता शांतनु सिन्हा ने हाल ही में सोशल मीडिया पर बांग्ला में एक पोस्ट किया था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस पोस्ट में शांतनु सिन्हा ने लिखा कि क्या अमित मालवीय अभी भी कोलकाता के फाइव स्टार होटल में इंतजार कर रहे हैं कि कब बंगाल नेतृत्व सुंदर लड़कियों की आपूर्ति करेगा? शांतनु ने लिखा कि ‘अब बंगाल नेतृत्व के बीच यह प्रतियोगिता बंद होनी चाहिए कि कौन कितनी सुंदर लड़कियों की आपूर्ति करके अध्यक्ष पद हासिल करेगा।’ शांतनु ने आरोप लगाया कि ‘भाजपा की आइटी सेल के प्रमुख ने पांच सितारा होटलों में ही नहीं बल्कि पार्टी कार्यालयों में भी महिलाओं का यौन शोषण किया।’

कांग्रेस ने अमित मालवीय को पद से हटाने की मांग उठाई

संघ कार्यकर्ता के आरोपों को कांग्रेस ने हाथों-हाथ लिया और कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत ने बाकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अमित मालवीय के इस्तीफे की मांग कर दी। सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि ‘आरएसएस के एक सदस्य  शांतनु सिन्हा ने कहा है कि भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय निम्न स्तर की हरकतों में शामिल हैं। वह महिलाओं के यौन शोषण में लिप्त हैं। हम चाहते हैं कि भाजपा महिलाओं के साथ न्याय करे और अमित मालवीय को पद से हटाए। प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण के 24 घंटे के बाद ही भाजपा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी पर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगे हैं।’ कांग्रेस ने अमित मालवीय को पद से हटाने और जांच की मांग की है। कांग्रेस का कहना है कि अमित मालवीय को अगर पद से नहीं हटाया गया तो वे जांच को प्रभावित कर सकते हैं। 

अमित मालवीय ने संघ कार्यकर्ता को भेजा मानहानि का नोटिस

वहीं शांतनु सिन्हा के आरोपों पर अमित मालवीय ने शांतनु को 10 करोड़ रुपये का मानहानि का नोटिस भेजा है। मालवीय के वकील ने कहा कि ‘कथित यौन शोषण के झूठे आरोप बेहद आपत्तिजनक हैं। इसलिए इन आरोपों पर तीन दिनों के भीतर स्पष्टीकरण मांगा गया है।’ मानहानि के नोटिस का जवाब आज यानी 11 जून को समाप्त हो रहा है। 

शांतनु सिन्हा ने दी सफाई

शांतनु सिन्हा ने एक और सोशल मीडिया पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि ‘मैं ये साफ करना चाहता हूं कि मेरे पोस्ट का मकसद अमित मालवीय की छवि खराब करना नहीं था बल्कि मैंने सिर्फ उन्हें हनी ट्रैप से बचने की सलाह दी थी। इस बारे में पहले तथागत रॉय ने बात की। मेरे पोस्ट में अमित मालवीय द्वारा महिलाओं के यौन शोषण  करने की बात कहीं नहीं की गई थी।’ शांतनु ने लिखा कि अगर उनकी पोस्ट से किसी को दुख हुआ तो वह माफी मांगने के लिए तैयार हैं, लेकिन वह अपनी पोस्ट नहीं हटाएंगे। 

शांतनु सिन्हा ने लिखा कि ‘मैं संघ का स्वयंसेवक हूं। एबीवीपी का पूर्व राज्य सचिव और राज्य विधानसभा और कोलकाता नगर निगम का चुनाव भी लड़ चुका हूं। मैं नहीं चाहता कि मेरे किसी पोस्ट से भाजपा या इसके पदाधिकारियों को मेरी पोस्ट की गलत व्याख्या करके बदनाम किया जाए।’







Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
1
How May I Help You.
Scan the code
Vishwakarma Guru Construction
Hello Sir/Ma'am, Please Share Your Query.
Call Support: 8002220666
Email: Info@vishwakarmaguru.com


Thanks!!